ताज़महल के कुछ अनसुलझे रहस्य

दुनियां में ऐसे बहुत से रहस्य हैं जो आज भी अनसुलझे हैं, और बहुत से रहस्य ऐसे हैं जोकि सुलझ सकते हैं वहां की Government उस रहस्य को बताना नही चाहती हैं। भारत मे भी ऐसे ही कई रहस्य हैं जिनमे से कुछ रहस्य ऐसे भी हैं, जो लोगो के सामने आ चुके हैं। लेकिन आज भी बहुत से रहस्य ऐसे हैं जो लोगो से छुपा कर रखे हुए हैं इन छुपे हुए रहस्यों में से सबसे बड़ा रहस्य ताजमहल के तहखानों का इस रहस्य को बताने में सरकार भी पीछे हट जाती हैं। अब चाहे वो कांग्रेस हो या फिर बीजेपी।

आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे ताजमहल के तहखनो
का रहस्य जो शायद आप मे से बहुत कम लोग जानते होंगे।
Rahul Advice
ताज़महल का सबसे बड़ा रहस्य   

ऐसा माना जाना हैं कि ताज महल का निर्माण 1631 में शुरू करवाया गया था, और 1653 में ताज़महल बन कर तयार हो चुका था। शोध कर्ताओ ने ताजमहल के ऊपर कई शोध किये और उनमें से ज्यादातर शोध कर्ताओ का मानना हैं। कि ताज़महल के नीचे एक हजार से भी ज्यादा कमरे हैं उनका यह भी मानना हैं, कि ताज़महल जितना ऊँचा हैं यह जमीन के नीचे भी उतनी ही गहराई तक बनाया गया हैं।

पहले के समय मे जब किले बनवाएँ जाते थे, तो उसमें कई तरह के खुफ़िया कमरे और बाहर जाने का गुप्त रास्ता भी बनवाया जाता था। और विशेषयग्यो के हिसाब से ऐसा ही ताज़महल के नीचे भी हैं। और गुप्त रास्ता हैं जो ज़मीन के नीचे से बाहर निकलता हैं। लेकिन उस गुप्त रास्ते को शाहजहाँ के समय से ही बन्द करके रखा हुआ हैं और ताजमहल के नीचे के कमरों को ईंटो से बंद करवाया गया था लेकिन शोध कर्ताओ का मानना हैं कि जिन ईंटो से इन कमरों को बंद किया गया हैं उन ईंटो का निर्माण इन इन कमरों के बनने के काफी समय बाद किया गया लेकिन सवाल ये उठता हैं कि ऐसी क्या वजह थी जो इन कमरों को बंद करवा दिया गया।

बहुत सारे वैज्ञानिको और शोध कर्ताओ की इस अलग अलग राय हैं जिनमे से कुछ का मानना हैं कि इन तहखानों में मुमताज की कब्र को रखा गया हैं, और उन कमरों को सरकारी तौर पर बन्द किया गया हैं। कुछ पुरातत्वी और लेखकों का यह भी मानना हैं कि इस जगह पर पहले एक शिव मंदिर हुआ करता था, और इस शिव मंदिर को ताजोमहल्या कहा जाता था। और इस शिव मंदिर को तोड़कर उसके ऊपर ताज़महल का निर्माण कराया गया और उनका ऐसा कहना हैं कि ताज़महल के नीचे स्तिथ तहख़ाने ताजमहल से भी ज्यादा पुराने हैं। 

लेकिन ये सब पुरानी बाते हैं अब एक नई Theory सामने आ रही जिसमे वैज्ञानिकों का कहना हैं कि ताज़महल के नीचे इन तहखानों में शाहजहाँ के कीमती खज़ाने भी हो सकते हैं। क्योंकि Metal Detector से धातुओं के होने का पता चलता हैं। लेकिन कई शोध कर्ताओ का यह भी मानना हैं कि ऐसे Secret भी हो सकते हैं की जो हमारे इतिहास तक को बदल सकते हैं। और इतिहासकारो ने इनमे से कई दरवाजे खोले भी थे लेकिन उन्हें कुछ कारणों के चलते फिर से बन्द करना पड़ा और इस वजह से ताज़महल के तहखानों का यह रहस्य और भी गहरा होता जा रहा हैं कि इन बन्द दरवाजो के पीछे आखिर में ऐसा हैं क्या जिन्हें सरकार भी नही बताना चाहती हैं।




LAST WORD :- आज के इस पोस्ट में हमने जाना
ताज़महल के कुछ अनसुलझे रहस्यों के बारे में उमीद करते हैं कि आपको इस पोस्ट में कुछ Information अच्छी लगी होगी अगर आपको हमारे द्वारा  शेयर की गई यह information अच्छी लगी तो इस पोस्ट को अपने Friends के साथ शेयर करना बिल्कुल मत बुलाना जिससे आपके Friends को भी ताजमहल के इस अनसुलझे रहस्यों के बारे में जानकारी मिल जाएगी 

Post a comment

0 Comments