Prithvi Ghumna Band Kar De To Kya Hoga

इस पूरे सौर मंडल में पृथ्वी ही एक ऐसा ग्रह हैं जहाँ पर जीवन हैं, और हम सभी यह भी जानते हैं कि पृथ्वी और अन्य ग्रह भी सूर्य का चक्कर लगाते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा हैं कि अगर पृथ्वी मात्र 40 सेकेंड के लिए घूमना बन्द कर दे तो क्या होगा। तो आज की इस पोस्ट में आपको यह जानकारी पड़ने को मिलेगी की अगर पृथ्वी मात्र 40 सेकेंड के लिए अपने अक्ष पर घूमना बन्द कर दे तो क्या होगा।


पृथ्वी पश्चिम से पूर्व दिशा की तरफ़ घूमती हैं और पृथ्वी के अपने अक्ष पर घूमने की रफ्तार 1670KM/H होती हैं अगर पृथ्वी अचानक से घूमना बन्द कर देती हैं तो पृथ्वी के Equator पर मौजूद सभी चीजे 1670KM/H की रफ्तार से पूर्व दिशा की तरफ उड़ने लगेंगी। और पृथ्वी का आपने अक्ष पर घुमना बन्द होने के बाद भी पृथ्वी का Atmosphere 1670Km/h की रफ्तार से फिर भी घुमता रहेगा। और ये बिल्कुल ऐसा ही होगा जैसे किसी तेज रफ्तार से चलती हुई गाड़ी में अचानक जोर से ब्रेक लगाने पर होता हैं। बस फर्क इतना होगा कि गाड़ी की रफ्तार पृथ्वी की रफ्तार की तुलना में बहुत कम होगी जिस वजह से गाड़ी में अचानक ब्रेक लगने से हमे ज्यादा नुकसान नही होगा परन्तु पृथ्वी में ब्रेक लगने से पृथ्वी में जितने भी जीव जंतु हैं सब को जान से हाथ धोना पड़ सकता हैं।

अभी पृथ्वी का आकार पृथ्वी के घूमने की वजह से पृथ्वी Perfect Sperical में नही हैं, लेकिन जैसे ही पृथ्वी घूमना बन्द करेगी तो पृथ्वी Perfect Sperical में आ जाएगी। जिसकी वजह से समुद्रों का पानी हर एक जगह में बराबर मात्रा में बटने लगेगा जिसकी वजह से पृथ्वी के उत्तरी हिस्सा और दक्षिणी हिस्सा पानी मे डूब जाएंगे और जिसकी वजह से पृथ्वी के Equator पर भयानक सुनामी आ जाएगी।

पृथ्वी के Equator में भयानक सुनामी आने के कारण सभी तटवर्तीय इलाके पानी मे डूब जाएंगे। और पृथ्वी में इस आपदा के आने के कारण हवाई जहाज में यात्रा करने वाले लोग भी नही बच पाएंगे क्योंकी Atmosphere के घूमने की वजह से हवाई जहाजों को भी खतरनाक और शक्तिशाली हवाओं से सामना करना पड़ेगा और जिस के कारण हवाई जहाज आसमान में ही जल कर राख हो जाएंगे। सिर्फ 40 सेकेंड के लिए आई इस आपदा की वजह से पृथ्वी पर मौजूद जीवन भी तहस - नहस हो सकता हैं।

जब पृथ्वी 40 सेकेंड के फिर से अपनी सामान्य अवस्था मे घूमना शुरू करेगा तो फिर से समुन्द्रों का पानी अपनी पुरानी स्तिथि में आ जाएगा। जो इलाके पानी मे डूबे थे वो फिर से सुख जाएंगे और उत्तरी दिशा और दक्षिणी दिशा से पानी फिर से हट जाएगा। पृथ्वी पर चारो तरफ मलवा बिखरा हुआ होगा सभी घर और पेड़ पौधे टूट चुक्के होंगे। और अगर उस समय कोई भी जीव या प्राणी इस भयानक आपदा से बच भी जाए तो वह पीने वाले पानी की तलाश में ही मर जाएगा क्योंकी समुद्रों का पानी जमीन पर आ जाने की वजह से पीने वाला पानी भी समुद्र के पानी की तरह दूषित हो चुका होगा

Post a comment

0 Comments